कंप्यूटर की पीढ़ियाँ ( Generation of Computer ) - Pass Box

यहां पर आपको मोबाइल इंटरनेट कंप्यूटर टिप्स और ट्रिक्स से संबंधित जानकारी प्राप्त होगी और साथ ही सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त होगी.

Whatsapp Group Join

Saturday, 8 September 2018

कंप्यूटर की पीढ़ियाँ ( Generation of Computer )

Computer की पीढ़ियाँ (Generation of Computer)

Computer की पीढ़ी संभवता एक महत्वपूर्ण चर्चा का विषय है आइए जानते हैं कि Computer की पीढ़ियां, उनके काल (कब से कब तक), उन पीढ़ियां के मुख्य विकास तथा विशेषताएं क्या-क्या है.

सन् 1946 मैं प्रथम Electronic Device, वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) युक्त एनिएक ( ENIAC ) Computer की शुरुआत ने Computer के विकास को एक आधार प्रदान किया. Computer के विकास के इस क्रम में कहीं महत्वपूर्ण Devices की सहायता से Computer में आज तक की यात्रा तय की इस विकास के क्रम को हम Computer में मुख्यता परिवर्तन के आधार पर निम्नलिखित पांच पीढ़ियां में बांटते हैं
  • प्रथम पीढ़ी ( First Generation ) - 1946 से 1956 तक
  • द्वितीय पीढ़ी ( Second Generation ) - 1956 से 1964 तक
  • तृतीय पीढ़ी ( Third Generation) - 1964 से 1971 तक
  • चतुर्थ पीढ़ी ( Fourth Generation ) - 1971 से 1982 तक
  • पांचवी पीढ़ी ( Fifth Generation ) - 1982 से वर्तमान तक

कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी ( First Generation of Computer) 

सन् 1946 में एनिएक ( ENIAC ) नामक Computer के निर्माण से ही Computer की प्रथम पीढ़ी का प्रारंभ हो गया था इस पीढ़ी के Computer में वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) का प्रयोग किया जाता था.  इस Computer में लगभग 18000  वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube), 70000 रजिस्टर और लगभग 5 मिलियन जोड़े थे Computer एक बहुत भारी मशीन के सामान था जिस को चलाने के लिए लगभग 160 वॉट की ऊर्जा खपत होती थी इस पीढ़ी में एनिएक ( ENIAC ) के अलावा और भी कहीं अन्य  Computer का निर्माण हुआ जिनके नाम निम्नलिखित है 
  1.  EDSAC ( Electronic Delay Storage Automatic Calculator )
  2. EDVAC ( Electronic Discrete Variable Automatic Computer )
  3. UNIVAC ( Universal Automatic Computer)  
  4. UNIVAC-1 ( Universal Automatic Computer-1) 
    कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी ( First Generation of Computer)

    First Generation of Computer)

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटरों की निम्नलिखित विशेषताएं (The following features of first-generation computers)

  • वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) का प्रयोग
  • पंचकार्ड पर आधारित
  • स्टोरेज के लिए मैग्नेटिक ड्रम का प्रयोग
  • बहुत सारे एयर कंडीशनर का प्रयोग

कंप्यूटर की द्वितीय पीढ़ी  ( Second Generation of Computer ) Following are the first generation computers Features)

Computer की द्वितीय पीढ़ी की शुरुआत कंप्यूटरों (Computer) में ट्रांजिस्टर का उपयोग करने से हुई  William Shockley ने ट्रांजिस्टर का आविष्कार सन् 1947 में किया था | जिसका उपयोग द्वितीय पीढ़ी (second Generation)  के Computer में वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) के स्थान पर किया जाने लगा. ट्रांजिस्टर के उपयोग से Computer को वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) की तुलना की अधिक गति एवं विश्वसनीयता प्रदान की और आकार में कॉम्पेक्ट और कम बिजली खपत करते थे 
इस पीढ़ी के कुछ Computer इस प्रकार थे
  • IBM 1620 
  • IBM 7094
  • CDC 1604
  • CDC 3600
  • UNIVAC 1108
कंप्यूटर की द्वितीय पीढ़ी  ( Second Generation of Computer ) Following are the first generation computers Features)

Second Generation of Computer)

द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटरों की निम्नलिखित विशेषताएं (Following features of second generation computers)

  • वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) किस स्थान पर ट्रांजिस्टर का उपयोग
  • अपेक्षाकृत छोटे एवं ऊर्जा की कम खपत
  • अधिक तेज एवं विश्वसनीय
  • प्रथम पीढ़ी की अपेक्षा कम खर्चीले
  • स्टोरेज डिवाइस, प्रिंटर एवं ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating system) आदि का प्रयोग

कंप्यूटर की तृतीय पीढ़ी  ( Third Generation of Computer )

 Computer की तृतीय पीढ़ी की शुरुआत सन् 1964 मैं हुई इस पीढ़ी ने कंप्यूटरों को IC प्रदान किया | IC अर्थात Integrated Circuit का आविष्कार 1958 में Texas Instruments Company के एक Engineer Jack Kilby ने किया था | इस पीढ़ी में Input देने के लिए Keyboard और Output देने के लिए Monitor का प्रयोग किया जाने लगा, और सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating system ) का प्रयोग इसी पीढ़ी में किया गया था जो कि एक CUI (Character User Interface) आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating system) था | इस पीढ़ी के कुछ Computer इस प्रकार थे |
  • ICL 2903
  • ICL 1900
  • UNIVAC 1108
  • SYSTEM 1360

First Generation of Computer)

कंप्यूटर की तृतीय पीढ़ी  ( Third Generation of Computer )

Third Generation of Computer


तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर की निम्नलिखित विशेषताएं (The following features of a third generation computer)


  • IC ( Intergrated circuit) का प्रयोग
  • प्रथम एवं द्वितीय पीढ़ियों (Second Generation) की अपेक्षा आकार एवं वजन बहुत कम 
  • अधिक विश्वसनीय
  • पोर्टेबल एवं आसान रखरखाव (Portable and Easy to maintain)
  • उच्च स्तरीय भाषा का प्रयोग

कंप्यूटरों की चतुर्थ पीढ़ी ( Fourth Generation of Computer )

सन् 1971 से 1982 तक के Computer को चतुर्थ पीढ़ी (Fourth Generation)  मानी जाती है | इस पीढ़ी में Integrated Circuit को अधिक विकसित किया जिसे Large Intergrated Circuit कहां जाता है | चतुर्थ पीढ़ी (Fourth generation)  के कम्प्यूटर (Computer)की शुरुआत माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessor) से हुई | जो की सिलिकॉन से बनी एक  छोटी सी चीप होती थी जिस पर हजारों IC एक साथ लगी होती है | इस पीढ़ी के कंप्यूटर (Computer)  में GUI (graphical user interface) आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) का प्रयोग किया गया | जो कि काम में लेने के लिए बहुत आसान था |

ALTAIR 8800 सबसे पहला माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)  था जिसे मिट्स (MITS)  नामक कंपनी ने बनाया था | इसी कंप्यूटर (Computer) पर बिल गेटस (Bill Gates) , जो उस समय हावर्ड विश्व विद्यालय के छात्र थे, ने बेसिक भाषा (Basic Language) कोई स्थापित (Install)  किया था |

इस सफल प्रयास के बाद बिल गेटस (Bill Gates) ने माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft)  कंपनी की स्थापना की जो दुनिया में सॉफ्टवेयर कंपनी की सबसे बड़ी कंपनी है| इस पीढ़ी के प्रमुख कंप्यूटर (Computer)  इस प्रकार थे |
  • DEC 10
  • STAR 1000
  • PDP 11
  • CRAY-1 (Super Computer) 
  • CRAY-X-MP (Supaer Computer) 
कंप्यूटरों की चतुर्थ पीढ़ी ( Fourth Generation of Computer )

Fourth Generation of Computer


चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर के निम्नलिखित विशेषताएं (Following features of the fourth generation computer)
  • आकार मैं अद्भुत कमी
  • साधारण आदमी की क्रय क्षमता के अंदर
  • अधिक प्रभावशाली, विश्वसनीय एवं अद्भुत गतिमान
  • अधिक मेमोरी (Storage)  क्षमता
  • कंप्यूटर (Computer) के विभिन्न नेटवर्क का विकास
  • Very Large Scale Integration तकनीक का उपयोग

कंप्यूटरों की पांचवी पीढ़ी ( Fifth Generation of Computer )
कंप्यूटर (Computer)  की पांचवी पीढ़ी (Fifth Generation) की शुरुआत सन् 1982 से मानी जाती है | इस पीढ़ी के प्रारंभ में कंप्यूटरों (Computer) को परस्पर संयोजित (Inter-connection) किया गया ताकि डाटा तथा सूचना क्या आपस में समझदारी तथा आदान प्रदान हो सके| IC यह तकनीक ULSI (ultra Large Scale Circuit) थी | यह पीढ़ी अभी विकसित की प्रक्रिया में है, इस पीढ़ी के कुछ गुण आजकल हम उपकरणों मैं काम लेते हैं |जैसे-फिंगरप्रिंट, रोबोट, आवाज द्वारा इनपुट देना आदि | इस पीढ़ी के प्रमुख कंप्यूटर (Computer)  इस प्रकार है:-
  • Desktop 
  • Laptop 
  • NoteBook
  • UltaraBook
  • ChromeBook
कंप्यूटरों की पांचवी पीढ़ी ( Fifth Generation of Computer )
Fifth Generation of Computer

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर निम्नलिखित विशेषताएं (Fifth Generation Computers Features the Following) 
  • कंप्यूटर के आकार और स्ट्रक्चर को तैयार किया जाता है | आज विभिन्न मॉडलों डेक्स टॉप (Desktop), लैपटॉप (Laptop), पाम टॉप (Palmtop) आदि में कंप्यूटर उपलब्ध है
  • पांचवी पीढ़ी (Fifth Generation)  के कंप्यूटर (Computer) से हम कहीं से भी घर बैठे अपने स्वास्थ्य, चिकित्सा, विज्ञान, कला एवं संस्कृति आदि लगभग सभी विषयों पर विविध सामग्री इंटरनेट पर प्राप्त कर सकते हैं.
  • ध्वनि (Sound), दृश्य (Graphic) या चित्र और टेक्स्ट (Text)  के सम्मिलित रूप मल्टीमीडिया का इसी पीढ़ी में विकास हुआ है.

Whatsapp Group latest Walk in Interview Information